Wednesday

Earn Money Online - Hindi



अगर आप Internet पर काफी Surfing करते हैं अथवा आपका अपना Blog या Website है, जिस पर आप अक्‍सर कुछ ना कुछ लिखते रहते हैं, तो आप Internet से पैसा भी कमा सकते हैं। Internet पर Online Income करने के लिए ये जरूरी नहीं है कि आपके पास अपना स्‍वयं का Blog/Website हो, लेकिन यदि आप Internet द्वारा Online Income करना चाहते हैं, तो कम से कम आपके पास अपना एक Blog जरूर होना चाहिए, क्‍योंकि जिस तरह से किसी भी काम को करने के लिए हमें किसी ना किसी माध्‍यम की जरूरत जरूर पडती है, ठीक उसी तरह से यदि हम Internet पर Online Income करना चाहें, तो हमारा Blog उस Internet Business के माध्‍यम के रूप में काम करता है। चलिए, पहले हम समझने की कोशिश करते हैं कि आखिर Internet पर पैसा कैसे कमाया जा सकता है?

ये बात तो हम सभी समझ ही हैं कि विभिन्न कम्पनियां ज्यादा से ज्यादा तरक्की करना चाहती हैं। लेकिन विभिन्न कम्पनियां केवल उसी स्थिति में ज्‍यादा से ज्‍यादा तरक्‍की कर सकती हैं, जबकि उनके द्वारा बनाया जाने वाला Product Market में ज्‍यादा से ज्‍यादा बिके और ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग किसी कम्‍पनी के Product को केवल उसी स्थिति में खरीद सकते हैं, जबकि उस कम्‍पनी के Products के बारे में ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को जानकारी हो, क्‍योंकि जब तक लोग किसी चीज के बारे में जानेंगे नहीं तब तक वे उसे खरीद कैसे सकते हैं और जब तक लोग किसी चीज को खरीदेंगे नहीं, तब तक उस चीज को बनाने वाली कम्‍पनी तरक्‍की कैसे कर सकती है।

इसलिए विभिन्‍न कम्‍पनियां अपने Products के बारे में ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को बताने के लिए विभिन्‍न प्रकार के Advertisement करती हैं और अपने Products की Advertising करने के लिए वे ऐसे Distribution माध्‍यमों को चुनती हैं, जिन्‍हें ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग उपयोग में लेते हैं। वे अपने Product की Advertising करने के लिए TV, Radio, News Papers, Banners, आदि माध्‍यमों को उपयोग में लेती हैं और उन्‍हीं Distribution Mediums में से एक माध्‍यम Internet है।

आप सोचेंगे कि विभिन्‍न कम्‍पनियों के Products का Internet से क्‍या लेना-देना है, तो हम आपको बता दें कि एक Survey के अनुसार ये पता चला है कि इस दुनियां में सोने और कमाने के बाद इन्‍सान टी वी देखने और Internet Surfing करने में अपना समय सबसे ज्‍यादा व्‍यतीत करता है।

इसका मतलब ये हुआ कि Internet Surfing दुनियां का चौथा सबसे ज्‍यादा किया जाने वाला काम है और यदि हम दूसरे नजरिए से देखें तो Internet ही एक एेसा स्‍थान है, जहां किसी भी समय दुनियां के सबसे ज्‍यादा लोग एक साथ एक जगह पर इकट्ठे होते हैं। Internet के अलावा किसी भी अन्‍य जगह पर करोडों लोग एक साथ एक ही समय पर उपलब्‍ध नहीं होते। यानी Internet ही वह जगह है, जहां हर समय करोडों लोगों की भीड होती है। इसलिए विभिन्‍न कम्‍पनियां अपने Products की Advertising करने के लिए TV, Radio, News Papers, Banners के साथ ही Internet को भी Advertising Medium के रूप में उपयोग में लेती हैं।

विभिन्‍न कम्‍पनियां अपने Product की Advertising करने के लिए करोडों डॉलर का खर्चा करती हैं। यदि हम कहें कि दुनियां का सबसे ज्‍यादा पैसा केवल Advertisement पर खर्च होता है, तो गलत नहीं होगा। अपने Product की Advertisement के बदले में ये कम्‍पनियां उन लोगों को काफी पैसा देती हैं, जो इनके Products की Advertising करने के लिए माध्‍यम का काम करते हैं।

उदाहरण के लिए जब ये कम्‍पनियां टी वी पर अपने Product की Advertising करती हैं, तब TV Channels के मालिक इन्‍हें हर Second की Ad के लिए लाखों रूपया चार्ज करते हैं। इसी तरह से जब ये कम्‍पनियां अपने Product की Advertising Radio या News Papers में करती हैं, तो ब‍दले में इन्‍हें Radio Channel या News Paper मालिकों को पैसा देना पडता है। इसी तरह से जब ये कम्‍पनियां अपने Product की Advertising रोड के आस-पास, सिनेमा हॉल के आस-पास या एेसे ही किसी Public Places पर करती हैं, तब इन्‍हें नगर पालिका या नगर निगम वालों को पैसा देना पडता है। यानी सारांश में कहें तो ये कम्‍पनियां किसी भी जगह पर किसी भी तरीके से Advertisement करने के बदले में किसी ना किसी को पैसा जरूर देती हैं।

TV Channels, Radio Stations, News Papers जैसे बडे माध्‍यमों तक तो एक आम आदमी की पहुंच नहीं है, लेकिन Internet एक एेसा माध्‍यम है, जहां पर एक आम आदमी की ही सबसे ज्‍यादा पहुंच है क्‍योंकि सबसे ज्‍यादा आम आदमी Internet पर ही उपलब्‍ध होते हैं और कम्‍पनियां अपने Products की Advertising आम आदमी के लिए ही करती हैं। इसलिए ये कम्‍पनियां उन लोगों को भी Directly या Indirectly पैसा देना पसन्‍द करती हैं, जो इनके Products की Direct या Indirect तरीके से Advertising करते हैं। बस यहीं से हमारा काम चालू होता है। हम इन कम्‍पनियों के Products की किसी ना किसी तरीके से Advertising करते हैं और बदले में हमें इन कम्‍पनियों से कुछ ना कुछ Commission प्राप्‍त होता है, जिसे हम Online Income या Online Earning के नाम से जानते हैं।

Internet द्वारा पैसा कमाना आसान भी नहीं है और ना ही इतना मुश्किल कि उसे हम जैसे लोग ना कर सकें। इस काम में भी हमें काफी मेहनत करनी पडती है लेकिन जैसे-जैसे हमें काम करने का तरीका समझ में आता जाता है, हमारा काम आसान होता जाता है। शर्त ये है कि हमें इसे मजाक के रूप में नहीं बल्कि एक गंभीर व्‍यवसाय के रूप में लें और जिस तरह से किसी भी नए व्‍यवसाय में हमें समय देना पडता है, उसी तरह हमें इस व्‍यवसाय में भी कुछ समय दें। अगर आपके पास एक Computer, Internet Connection, Bank Account PAN Card है, तो आप इस काम को Join कर सकते हैं और बिना अपने घर से बाहर निकले हुए भी पर्याप्‍त पैसा कमा सकते हैं।

अगर आप Internet पर Side Income करना चाहते हैं और इस Business को मजाक के रूप में नहीं बल्कि एक Serious Business के रूप में देखते हैं, तो इस Online Business को Establish करने के लिए आपके पास कम से कम एक Blog तो होना ही चाहिए। क्‍योंकि Internet पर Side Income करने के लिए आपका ये Blog आपके और पैसों के बीच एक माध्‍यम के रूप में काम करता है। तो सबसे पहले आप अपना Blog बनाईए।  


Create a Blog
ज्‍यादातर लोग अपना Blog बनाने के बाद ये तय ही नहीं कर पाते कि वे किस विषय पर लिखें, ताकि ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग उनके Blog पर आऐं। लगभग सभी नए Bloggers के साथ यही समस्‍या रहती है। इसलिए सामान्‍यतया जब लोग अपना Blog बनाते हैं, तो वे अपने बारे में ही लिखना शुरू कर देते हैं, कि उन्‍हें क्‍या पसन्‍द है, उन्‍हें क्‍या पसन्‍द नहीं है, उनके साथ लोग कैसा व्‍यवहार करते हैं, वगेरह वगेरह।

अगर आप भी केवल अपने बारे में ही लिखने जा रहे हैं, तो भूल जाईए कि लोग आपके Blog पर आऐंगे और आपके बारे में पढ कर खुश होंगे। लोगों को आपसे और आपकी जिन्‍दगी के रोने-धोने से कोई मतलब नहीं है। हां, अगर आपकी जिन्‍दगी कुछ Special तरह की है, तो आप अपने बारे में लिख सकते हैं और इस स्थिति में हो सकता है कि लोग आपके Blog पर आपके बारे में जानने के लिए भी आएं।

लेकिन अगर आप Extra Ordinary नहीं हैं, तो फिर अपने बारे में मत लिखिए। बल्कि आप उनके बारे में लिखिए, जिन्‍हें लोग ज्‍यादा पसन्‍द करते हैं। तो सबसे पहले अपना ब्‍लॉग बनाईये। ब्‍लॉग बनाने से संबंधित सारी जानकारी प्राप्‍त करने के लिए आप  "Online Money with Blogging" EBook Download कर सकते हैं। ये पुस्‍तक हिन्‍दी भाषा में लिखी गई है और आप इसे पढकर आसानी से Online Earning व Blogging का Basic समझ सकते हैं। 


Types of Bloggers
वास्‍तव में Internet की दुनियां में दो तरह के Blogger होते हैं यानी दो तरह के लोग Internet पर अपना Blog लिखते हैं। पहले तरह के Blogger वे होते हैं जो केवल आत्‍म संतुष्टि के लिए यानी अपने लिए लिखते हैं। वे अपने Blog में अपने साथ हो रही अच्‍छी या बुरी घटनाओं के बारे में लिखकर अपनी खुशी या तकलीफ का इजहार करते हैं। ज्‍यादातर लोग तो केवल अपनी भडास निकालने के लिए ही Blog लिखते हैं। ऐसे लोगों के Blog पर लोग दो-चार बार तो जाते हैं लेकिन बाद में उन्‍हें पता चल जाता है कि आखिर वह Blogger क्‍या और क्‍यों लिख रहा है और अपना रोना क्‍यों रो रहा है। इसलिए ऐसे Bloggers के Blog पर बहुत ही कम लोग बार-बार जाते हैं।

दूसरे तरह के Blogger वे होते हैं, जो दुनियां को कुछ देना चाहते हैं और बदले में कुछ प्राप्‍त करना चाहते हैं। ऐसे Bloggers के Blog पर आपको हर बार कोई ना कोई अच्‍छी जानकारी जरूर मिलती है, जो कि आपके लिए Directly या Indirectly कभी ना कभी जरूर उपयोगी साबित होती है। हालांकि ऐसे Bloggers के Blog पर शुरूआत में कम लोग आते हैं, लेकिन जब एक बार कोई ऐसे Blog पर आ जाता है, तो वह उस Blog पर नई-नई जानकारियां प्राप्‍त करने के लिए बार-बार आता है।

अब आप तय कीजिए कि आप किस तरह के Blogger बनना चाहते हैं। जाहिर है कि आप दूसरे तरह के Blogger ही बनना चाहेंगे, लेकिन अक्‍सर लोग दूसरे तरह के Blogger बनते-बनते पहले तरह के Blogger बन जाते हैं और ऐसा तब होता है, जब वे लोग सही विषय का चुनाव नहीं कर पाते अथवा सही विषय का चुनाव करने के बावजूद कुछ समय बाद भटक जाते हैं और किसी फालतू विषय पर Blog लिखना शुरू कर देते हैं।

किसी भी विषय को चुनने से पहले आपको Internet Surfing करने वाले लोगों की Psychology यानी मनोविज्ञान को समझना होगा। यानी आपको Internet Surfers के दिमाग को पढना होगा और ये समझना होगा कि आखिर लोग Internet पर आते क्‍यों हैं ?

"क्‍या आपने कभी सोंचा है कि लोग Internet पर क्‍या करने के लिए आते हैं ?"

हर इन्‍सान में एक लाईलाज बीमारी है और इस बीमारी का ईलाज करने के लिए सभी लोग वो सबकुछ करते हैं जो कर सकते हैं। इस बीमारी का ईलाज करने के लिए सभी लोग एक दूसरे से बात करते हैं, दोस्‍त बनाते हैं, रिश्‍ते-नाते और सम्‍बंध बनाते हैं, टी वी देखते हैं, रेडियो सुनते हैं, News Paper पढते हैं और Internet Surfing करते हैं और इन सब कामों को करने के लिए सभी लोग Directly या Indirectly पैसा खर्च करते हैं।

"क्‍या आप जानना चाहते हैं कि ये लाईलाज बीमारी क्‍या है?"

इस लाईलाज बीमारी का नाम है जिज्ञासा यानी जानने की इच्‍छा और इस इच्‍छा को पूरा करने के लिए ही इन्‍सान लोगों से बात करता है, सम्‍बंध बनाता है, टी वी देखता है, रेडियो सुनता है और Internet पर Surfing करता है।

इन्‍सानों की ये विशेषता होती है कि वे जब तक किसी चीज के बारे में जानते नहीं है, तब तक उसकी परवाह नहीं करते, लेकिन जब एक बार वे किसी चीज के बारे में देख या सुन लेते हैं, तो उस चीज को वे जब तक पूरी तरह से समझ नहीं लेते तब तक उनके दिमाग में खलबली मची रहती है और अपने दिमाग की इस उथल-पुथल को शान्‍त करने के लिए ही ज्‍यादातर लोग Internet Surfing करते हैं, क्‍योंकि वे कुछ ना कुछ जानना चाहते हैं, उन्‍हें किसी ना किसी जानकारी की तलाश है। चलिए, इसी बात को एक उदाहरण द्वारा समझते हैं।

अगर आप Internet पर Surfing करते हैं, तो आप सबसे ज्‍यादा बार कौनसी Website Open करते हैं? कभी ध्‍यान नहीं दिया? तो हम बताते हैं आपको। कोई भी Internet Surfer यदि सबसे ज्‍यादा बार कोई Website Open करता है, तो वह कोई ना कोई Search Engine जैसे कि Google, Bing, MSN, AOL, Ask आदि होता है।

आप सबसे ज्‍यादा बार इन्‍हीं Websites को क्‍यों Open करते हैं?

इसलिए, क्‍योंकि आपको किसी ना किसी विषय में कोई ना कोई जानकारी चाहिए होती है और ये Search Engines आपको आपकी वांछित जानकारी तक पहुंचाने का काम करते हैं। जब भी आपको किसी विषय की जानकारी चाहिए होती है, आप इन Search Engines के Search Box में अपने विषय से सम्‍बंधित कुछ Keywords यानी शब्‍द लिखते हैं और ये Search Engines उन Keywords से सम्‍बंधित Websites की List आपके सामने Display करते हैं। बस, जो आप कर रहे हैं वो ही लोग करते हैं और जिसके लिए आप कर रहे हैं उसी के लिए लोग करते हैं, यानी सभी लोग किसी ना किसी चीज के बारे में जानकारी प्राप्‍त करने के लिए ही Internet का प्रयोग करते हैं।

पूरे Discussion को सरल शब्‍दों में कहें तो सभी लोगों को कोई ना कोई परेशानी है और उस परेशानी से छुटकारा पाने के लिए उन्‍हें किसी ना किसी चीज या विषय के बारे में जानने की इच्‍छा है। उस चीज या विषय को जानने के लिए सभी लोग विभिन्‍न प्रकार के माध्‍यम जैसे कि आपसी सम्‍बंध, दोस्‍त, रिस्‍तेदार, टी वी चेनल्‍स्, रेडियो, अखबार आदि का प्रयोग करते हैं और जब लोगों की जिज्ञासा इन सभी माध्‍यमों से पूरी तरह से शान्‍त नहीं हो पाती, तब लोग Internet पर आते हैं और Surfing करके अपनी जिज्ञासा को शान्‍त करने की कोशिश करते हैं।

सारांश ये कि लोग आपके बारे में या आपकी समस्‍याओं के बारे में जानने के लिए Internet Surfing नहीं करते हैं, बल्कि उनकी खुद की कुछ समस्‍याएं हैं, जिनके समाधान प्राप्‍त करने के लिए वे Internet Surfing करते हैं। इसलिए आप अपने Blog में अपने बारे में नहीं बल्कि उस चीज, उस विषय या उस समस्‍या के बारे में लिखें, जिसकी लोगों को जरूरत है और केवल समस्‍या ही नहीं लिखें, बल्कि उस समस्‍या का समाधान भी बताएं। साथ ही आप इस बात का भी ध्‍यान रखें कि आप जिस विषय पर लिख रहे हैं, उसके बारे में पूरी जानकारी दें, ताकि एक Internet Surfer को आपके Blog पर आने के बाद किसी और Blog/Website पर जाने की जरूरत ही ना रहे।

जब आप लोगों को पूरी, विस्‍त़त व बिल्‍कुल सही जानकारी देंगे, तो लोग बार-बार आपके Blog पर आएंगे और जितने ज्‍यादा Repeat Surfer आपके Blog पर आएंगे, लोग आप पर और आपके द्वारा दी जाने वाली जानकारियों पर उतना ही ज्‍यादा विश्‍वास करेंगे और जब लोग आप पर विश्‍वास करने लगेंगे, तब वे वो सबकुछ करेंगे, जो आप कहेंगे। आप उन्‍हें यदि कोई चीज बेचना चाहेंगे, तो वे खरीदेंगे। आप उनसे किसी जानकारी के बदले में Donation लेना चाहेंगे, तो वे आपको Donation देंगे। यानी वे सभी लोग वो सबकुछ करेंगे, जो आप चाहेंगे।

अब आपको ये तय करना है कि लोग आखिर किस विषय पर जानकारी प्राप्‍त करना चाहते हैं और लोग जिस विषय पर जानकारी प्राप्‍त करना चाहते हैं, उसी विषय पर लिखना शुरू कीजिए। लेकिन आपको कैसे पता चलेगा कि लोगों को किस तरह की जानकारी की जरूरत है? अच्‍छा सवाल है, लेकिन इस सवाल का जवाब भी हम आपको Indirect तरीके से ही दे सकते हैं।

ज्‍यादातर लोग ये कहते हैं कि आपको उन विषयों को लिखने के लिए चुनना चाहिए, जिन्‍हें बहुत ज्‍यादा लोग खोजते हों और जिन पर बहुत कम Websites उपलब्‍ध हों। लेकिन हम इसका उल्‍टा कहते हैं। इस दुनियां में एेसी कोई जानकारी नहीं है, जिसके सम्‍बंध में Internet पर कोई Website उपलब्‍ध ना हो और बहुत ज्‍यादा लोग उन जानकारियों को Search कर रहे हों।

आप किसी भी Search Engine जैसे कि Google, Yahoo को Open कीजिए और उसके Search Text Box में कोई भी शब्‍द Type करके उस शब्‍द से सम्‍बंधित Websites को Search कीजिए। आपके सामने सैकडों नहीं लाखों Websites आ जाएंगी। इसका मतलब ये हुआ कि आप कभी कोई ऐसा विषय तय नहीं कर सकते, जिस पर पहले से कोई Website उपलब्‍ध ना हो, जिस पर पहले किसी ने ना लिखा हो और उस विषय की जरूरत बहुत सारे लोगों को हो।

अपने Blog पर लिखने के लिए ऐसा विषय खोजने की कोशिश मत कीजिए, जिसके बारे में बहुत सारे लोगों को जानकारी चाहिए, बल्कि ऐसा विषय खोजने की कोशिश कीजिए, जिसके बारे में आप सबसे बेहतर जानकारी दे सकते हैं।

यानी ये मत सोंचिए कि लोगों को किस विषय की जानकारी की सबसे ज्‍यादा जरूरत है बल्कि ये सोंचिए कि आप लोगों को सबसे बेहतर जानकारी किस विषय में दे सकते हैं। लोगों को तो सभी तरह की जानकारियों की जरूरत है और करोडों लोग करोडों तरह की जानकारियां प्राप्‍त करना चाहते हैं, इसलिए आप किसी भी विषय पर लिखें, उस विषय से सम्‍बंधित जानकारी चाहने वाले भी लाखों लोग हैं।

इस दुनियां के हर इन्‍सान में कोई ना कोई विशेषता है। आप में भी होगी। कोई ना कोई ऐसा काम होगा, जिसे आप बहुत अच्‍छी तरह से कर सकते हैं। बस अपनी उस विशेषता को पहचानिए और उसी पर लिखना शुरू कीजिए।

अगर आप वकील है, तो वकालत के बारे में लिखिए। अगर आप Photographer हैं, तो Photography के बारे में लिखिए। अगर आपको राजनीजि के बारे में बात करने का शोक है, तो राजनीति पर लिखिए। यानी उस विषय को चुनिए, जिसके बारे में आप बेहतर तरीके से जानते हैं। अगर आपको कहानियां गढना आता है, तो अपनी भावनाओं को कहानियों के रूप में लिखिए। अगर आपको चुटकुले बनाना आता है, तो अपने चुटकुलों को अपने Blog पर लिखिए। यानी आप अपने अन्‍दर की उस विशेषता को पहचानिए, अपनी उस Hobby का पता लगाईए, जिसे पूरा करने में आपको सबसे ज्‍यादा मजा आता है।

अगर आपको हर फिल्‍म देखने का व उनके बारे में बात करने का शोक है, तो अपने Blog पर हर फिल्‍म के बारे में विस्‍तार से अपने Comment कीजिए। फिल्‍में बनते व बनाते समय होने वाली विभिन्‍न प्रकार की उन घटनाओं का पता लगाईए, जिसके बारे में लोग नहीं जानते और उन घटनाओं को अपने Blog पर लिखिए। आप विभिन्‍न Actors के जीवन में होने वाली घटनाओं के बारे में लिखिए।

केवल Actors ही नहीं, बल्कि हर उस व्‍यक्ति के बारे में लिखिए, जो कि विशेष है या जिसने कोई ना कोई विशेष काम किया है। लोग विशेष लोगों के बारे में जानने के लिए हमेंशा उत्‍सुक रहते हैं, इसीलिए यदि आप इन विषयों पर लिखते हैं, तो आपके Blog पर काफी लोग आ सकते हैं, जो कि आपको Directly या Indirectly कुछ ना कुछ Income तो देते ही हैं।

अगर आपको Cricket का शोक है, तो क्रिकेट से सम्‍बंधित उन विभिन्‍न Records व घटनाओं के बारे में अपने Blog पर बताईए, जिसके बारे में लोग नहीं जानते। विभिन्‍न Cricketers की जिन्‍दगी के बारे में जानिए और उनके जीवने के Amazing Moments को अपने Blog का हिस्‍सा बनाईए। बहुत सारे लोग आपके Blog पर आऐंगे। क्‍योंकि फिल्‍में व क्रि‍केट जैसे विषयों के बारे में जानने में लोगों को बहुत मजा आता है और इसी मजे को पाने के लिए लोग पैसा भी खर्च करते हैं।

यानी आपको जिस काम को करने में सबसे ज्‍यादा मजा आता है और आप जिस काम को बिना ऊबे हुए जुनून के साथ लम्‍बे समय तक कर सकते हैं, आप अपने Blog में उसी काम के बारे में लिखिए क्‍योंकि वही वह विषय है, जिसके बारे में आप सबसे बेहतर जानते हैं और सबसे बेहतर तरीके से लिख सकते हैं।

चलिए, अब आपको पता है कि आपको किस विषय पर अपने Blog में लिखना चाहिए। यानी आपने वो विषय चुन लिया है, जिस पर आप लिखना चाहते हैं। अब आपको ये तय करना है कि आप किसके‍ लिए लिखना चाहते हैं यानी आपका Targeted Traffic कौनसा है।

दूसरे शब्‍दों में कहें तो आप किसको Target करके लिखेंगे ताकि ज्‍यादा से ज्‍यादा Targeted Traffic आपको प्राप्‍त हो सके। आपके Blog पर आपके द्वारा दी जाने वाली जानकारी जिन लोगों के लिए उपयोगी हो सकती है वे लोग आपका Targeted Traffic कहलाते हैं।

उदाहरण के लिए यदि आप वकील हैं और अपने Blog पर वकालत से सम्‍बंधित जानकारियां देते हैं, तो वे सभी लोग आपके Blog को पढने के लिए आ सकते हैं, जिन्‍हें किसी ना किसी तरह की कानून सम्‍बंधित समस्‍या है और जिन लोगों को कानून से सम्‍बंधित किसी तरह की समस्‍या है, वे लोग आपका Targeted Traffic हैं।

आपके Targeted Traffic का आपके Blog के विषय से भी गहरा सम्‍बंध होता है। इसलिए आपको ये भी तय करना होगा कि आप जिस विषय पर लोगों को जानकारी देना चाहते हैं, उस विषय से सम्‍बंधित जानकारी चाहने वाले लोग किस स्थिति में आपके Blog पर दी जाने वाली जानकारी को खरीदना पसन्‍द कर सकते हैं।

अगर आप ऐसे लोगों को Target करके लिखते हैं, जो कि आपकी किसी जानकारी को खरीदने में Interested हो सकते हैं, तो आपके लिए Online Income करने का ये एक और बेहतर Option होता है, जिसमें आप अपने Targeted Traffic को किसी विषय से सम्‍बंधित पूरी जानकारी देने के बदले में उन्‍हें अपने किसी Information Product को खरीदने के लिए कह सकते हैं।

लेकिन यदि आप उन लोगों के लिए लिख रहे हैं, जो कि किसी भी Information Product को खरीदने में Interested नहीं हो सकते, तब भी आपको चिन्‍ता करने की कोई जरूरत नहीं है। Internet पर कई ऐसे Advertisement उपलब्‍ध हैं, जिन्‍हें अपने Blog पर जगह देकर आप Indirect तरीके से Income कर सकते हैं।

जब हम Targeted Traffic की बात करते हैं, तब आपको ये भी सोचना होता है कि आप अपने Blog पर जिन लोगों को Target करके लिख रहे हैं, वे लोग किस भाषा में जानकारी चाहते हैं। यानी यदि आप भारत के हिन्‍दी भाषी लोगों के लिए लिख रहे हैं, तो आपको हिन्‍दी भाषा में लिखना होगा। लेकिन यदि आप हिन्‍दी भाषा में अपने Blog पर लिखते हैं, तो फिर पर्याप्‍त Online Income उसी स्थिति में हो सकती है, जब आप कोई Online Information Product Sell करते हों और आपका Targeted Traffic उस Online Information Product को खरीदने में भी Interested हो। क्‍योंकि ज्‍यादातर Online Advertisement करने वाली कम्‍पनियां हिन्‍दी भाषा और भारतीय लोगों के लिए अपने Products की Advertising नहीं करती हैं।

ज्‍यादातर कम्‍पनियां भारतीय लोगों के लिए अपने Products की Advertising इसलिए नहीं करती हैं, क्‍योंकि आज भी भारतीय लोग Online खरीदारी नहीं करते हैं और आने वाले लम्‍बे समय तक कर भी नहीं सकते। अब आप पूछेंगे कि क्‍यों नहीं कर सकते? कुछ ऐसे कारण हैं जिनकी वजह से भारतीय लोग Online खरीदारी नहीं कर सकते।

सबसे पहला कारण ये है कि आज भी भारत के केवल लगभग 5 करोड लोग ही Internet का इस्‍तेमाल करते हैं और उनमें भी मुश्किल से 1 करोड लोग ही Internet को गंभीरता से समझते हुए इसका इस्‍तेमाल करते हैं। बाकी के लोग तो केवल Mail Check करने या Mail Receive करने से सम्‍बंधित जानकारियों तक ही सीमित हैं।

ज्‍यादातर भारतीय लोग तो Internet का इस्‍तेमाल केवल Online Songs, Movies, Wallpapers, Screensaver Pirated Software को Download करने के लिए ही करते हैं। यानी पहली बात तो यही है कि ज्‍यादातर भारतीय Internet Surfers तो E-Commerce के बारे में जानते ही नहीं हैं और जो लोग जानते हैं, वे लोग Online खरीदारी करने में डरते हैं।

अब चूंकि ज्‍यादातर भारतीय लोगों के लिए Online खरीदारी करना आज भी एक टेढी खीर है, इसलिए विभिन्‍न कम्‍पनियां भारतीय भाषाओं में बनी Websites/Blogs पर अपने Products की Advertising करना तब तक पसन्‍द नहीं करतीं, जब तक कि उन Websites/Blogs पर लाखों लोग ना आते हों। इसलिए इन Companies के Products की महंगी Advertising तो आपको अपने Blog पर मिलेगी नहीं और जब इन Advertising Companies के Products की महंगी Advertising आपको अपने Blog पर प्राप्‍त नहीं होगी, तब तक आपको Indirect तरीके से प्राप्‍त होने वाली Online Income काफी कम प्राप्‍त होगी।

आप खुद ही सोंचिए, जिस जगह पर रखी गई चीज बिकने की सम्‍भावना ही ना हो, वहां पर चीज रखने के लिए कम्‍पनियां पैसा खर्च क्‍यों‍ करेंगी। इसलिए विभिन्‍न कम्‍पनियां भी अपने Products की Advertising उसी Blog/Website पर करना पसन्‍द करती हैं, जहां पर आने वाले लोग उनके Products को खरीदने में सक्षम हों और ऐसा केवल विकसित देशों यानी विदेशों में होता है। इसलिए ज्‍यादातर कम्‍पनियां उन लोगों के Blog या Website पर अपने Advertisements देती हैं, जो विदेशी भाषाओं में व विकसित देशों के लोगों के लिए लिखते हैं।

यदि सारांश के रूप में कहें तो हम तो आपसे यही कहेंगे कि यदि आप विभिन्‍न कम्‍पनियों के Products की Advertisement करके Online Income करना चाहते हैं, तो हिन्‍दी भाषा को भूल जाईए। Internet Advertisement की दुनियां में हिन्‍दी का कोई महत्‍व नहीं है। लेकिन यदि आप हिन्‍दी में ही लिखना चाहते हैं, तो समझ लीजिए कि आप बहुत ही छोटे Area में कमाने की कोशिश कर रहे हैं, क्‍योंकि हिन्‍दी केवल भारत में ही चलती है और यदि हम सही शब्‍दों में कहें तो भारत में भी केवल उत्‍तर भारत के कुछ ही राज्‍यों में हिन्‍दी भाषा का प्रयोग किया जाता है।

यानी हमारे देश में ही हिन्‍दी भाषा को केवल 30% लोग ही उपयोग में लेते हैं, तो बाकी के देशों में लोग हिन्‍दी उपयोग में लेते होंगे, ये बात तो सोंचना ही बेवकूफी है और जब हिन्‍दी भाषा को इतने कम लोग उपयोग में लेते हैं, तो फिर सोंचिए कि अगर आप हिन्‍दी भाषा में Blogging करते हैं, तो आपके Blog पर कितने लोग आऐंगे, आपके Product को कितने लोग खरीदेंगे और आपको कितनी Online Income होगी क्‍योंकि यदि आप हिन्‍दी भाषा में लिखेंगे तो आपको विभिन्‍न कम्‍पनियों के महंगे Advertisement तो मिलेंगे नहीं और जब आपको महंगे Advertisement नहीं मिलेंगे तो दूसरा तरीका यही है कि आप अपने Blog के Through कोई ना कोई Product Sell करें, फिर चाहे वह कोई Physical Product हो या Information Product और जैसाकि हमने पहले कहा कि भारतीय लोग आज भी Online खरीदारी या तो करते नहीं है या बहुत कम करते हैं, इसलिए आपके Online Income प्राप्‍त करने की एक सीमा बन जाएगी, जो कि आपके लिए पर्याप्‍त नहीं होगी।

ऐसा नहीं है कि हिन्‍दी भाषा में Blogging करने पर आपको Online Income नहीं होगी और ऐसा भी नहीं है कि आपको हिन्‍दी Blog पर Advertisement नहीं मिलेगी। कई एेसी Companies हैं, जो हिन्‍दी Blog पर भी अपने Products की Advertising करती हैं और अब तो Google AdSense की Ads भी Hindi Blog/Websites के लिए उपलब्‍ध है। लेकिन Hindi Blogging में आपकी Online Income सीमित ही रहेगी। क्‍योंकि हिन्‍दी Blog पर केवल भारतीय कम्‍‍पनियां ही Advertisement देंगी और भारतीय कम्‍पनियां आपको आपका Commission रूपयों में Pay करेंगी, जबकि यदि आपके Blog पर विदेशी कम्‍पनियां अपने Products की Advertisement देती हैं, तो वे आपको Dollars में Pay करेंगी।

आप ही सोंचिए कि यदि आपको आपके Blog पर एक रूपए की भारतीय Advertising मिलती है तो वहीं आपको आपके Blog पर $1 यानी एक डॉलर की विदेशी Advertising मिल सकती है, जो कि भारत के लगभग 60 रूपयों के बराबर होती है। अब आप ही सोंचिए कि आपको भारतीय Advertising चाहिए या विदेशी।

यदि आप हिन्‍दी में Blogging करना चाहते हैं, तो आपको एक रूपये से सन्‍तुष्‍ट होना होगा लेकिन य‍दि आप विदेशी Advertising चाहते हैं, तो आपको हिन्‍दी Blogging को छोडना होगा। आप स्‍वयं ही तय कीजिए कि आप किस भाषा में और किन लोगों के लिए Advertising करना चाहते हैं ? भारतीय भाषा में भारतीय लोगों के लिए या विदेशी भाषा में विदेशी लोगों के लिए।

चलिए, अब आप जानते हैं कि हिन्‍दी भाषा के Blog से आप ज्‍यादा Income नहीं कर सकते, तो फिर अब आप कौनसी भाषा में Blogging करेंगे? जाहिर सी बात है कि आपको English भाषा को अपनाना होगा। यदि हम Internet इस्‍तेमाल करने वाले लोगों की बात करें, तो सबसे ज्‍यादा चीनी लोग Internet का इस्‍तेमाल करते हैं। चीन के बाद जापान के लोग और तीसरे स्‍थान पर भारत के लोग आते हैं। यानी यदि Internet का इस्‍तेमाल करने वाले तीसरे सबसे ज्‍यादा लोगों की बात करें, तो वे भारतीय लोग हैं, लेकिन जब हम भाषा की बात करते हैं तब Internet की दुनियां में 30% लोग English Use करते हैं, 19% लोग Chinese Use करते हैं और 36% लोग Spanish, Japanese, French, German, Arabic, Portuguese, Korean व Italian Language Use करते हैं। बाकी के बचे हुए 15% लोग दुनियां की बाकी बची हुई सभी अन्‍य भाषाओं को उपयोग में लेते हैं। इसलिए Hindi Blogging से पैसा बनाना तो मुश्किल है।

English ही एक ऐसी भाषा है, जिसे लगभग सारी दुनियां के लोग समझते हैं। English Language की एक दूसरी विशेषता ये भी है कि इसे Google के Language Translator का प्रयोग करके कई अन्‍य English Related Languages में Convert किया जा सकता है, इसलिए English Blogging से केवल 30% Internet Users ही Cover नहीं होते, बल्कि लगभग 100% Internet Users Cover होते हैं।

इसलिए यदि आप Internet पर पैसा कमाना चाहते हैं, तो आपको English Blogging को ही महत्‍व देना होगा। हिन्‍दी में भी लिखिए, लेकिन उस स्थिति में ज्‍यादा पैसा कमाने की उम्‍मीद मत कीजिए। और हां! हमने आपको जो आंकडे बताए हैं, ये आंकडे हमने हमारी मर्जी से नहीं लिखे। यदि आप विभिन्‍न देशों के Users, उनके Internet Use करने के तरीके, विभिन्‍न देशों की Populations आदि विभिन्‍न प्रकार की Internet Status के बारे में जानना चाहते हैं, तो आप भी internetworldstat.com नाम की Website पर जा सकते हैं। हमने ये सारी जानकारियां इसी Website से प्राप्‍त की हैं। तो अब इस पूरे Discussion का आप निम्‍न सारांश निकाल सकते हैं:

  1. इस दुनियां के सभी लोग किसी ना किसी परेशानी से परेशान हैं और उस परेशानी का समाधान प्राप्‍त करने के लिए वे अपनी समस्‍या से सम्‍बंधित विभिन्‍न प्रकार की पूरी जानकारी प्राप्‍त करना चाहते हैं। जानकारी प्राप्‍त करने के लिए अन्‍त में सभी लोग Internet पर आते हैं, इसलिए आपको अपने Blog द्वारा उन्‍हें किसी ना किसी तरह की अच्‍छी और पूरी जानकारी देनी पडेगी, तभी ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग बार-बार आपके Blog पर आऐंगे।
  2. जानकारी देने के लिए आपको ऐसे विषय को चुनना होगा, जिसे आप सबसे ज्‍यादा पसन्‍द करते हैं। क्‍योंकि आप जिस विषय को सबसे ज्‍यादा पसन्‍द करते हैं, उसी विषय के बारे में आप लोगों को सबसे ज्‍यादा बेहतर व सही जानकारी दे सकते हैं।
  3. आपको अपने Targeted Traffic को पहचानना होगा और उस Targeted Traffic के आधार पर लिखना होगा। यदि आप ज्‍यादा पैसा कमाना चाहते हैं, तो आपको विदेशी मार्केट पकडना होगा और विदेशी मार्केट पकडने के लिए आपको अपने Blog पर विदेशियों के लिए लिखना होगा यानी आपको अपने Blog पर English भाषा में लिखना होगा।

Friday

Simple and Secure Online Selling

अब इन्‍टरनेट पर कोई भी Product Sell करना काफी आसान है। आज मैं आपको बताने जा रहा हूं कि आप Internet पर बिना किसी परेशानी के किस तरह से कोई भी Product Sell कर सकते हैं और आने वाले Payment को बिना किसी परेशानी के अपने PayPal A/c में प्राप्‍त कर सकते हैं साथ ही आप जो Product Sell कर रहे हैं उसे पूरी सुरक्षा के साथ Sell कर सकते हैं यानी आपका Product केवल उसी स्थिति में Download किया जा सकता है जब आपके Customer ने आपके Product का Payment Pay कर दिया हो साथ ही आपका Customer आपके Product को केवल एक ही बार Download कर सकता है, जिससे आपके Product की चोरी हो जाने की सम्‍भावना न्‍यूनतम रहती है।


What to Sell Online
सबसे पहला सवाल तो यही आता है कि आप क्‍या Sell कर सकते हैं। तो Selling करके Online Income प्राप्‍त करने के लिए सबसे बेहतर Product Digital Products ही है। क्‍योंकि इन्‍हें एक ही बार Create करना होता है और बार बार बेचा जा सकता है। Digital Product Create करना काफी आसान है। आप जिस किसी भी विषय पर Blogging करते हैं आप उस विषय से सम्‍बंधित सभी जानकारियों का एक Collection तैयार कर सकते हैं और उस उस Information के Collection को EBook, Report या Review के रूप में Internet पर Online Selling करके काफी Income प्राप्‍त कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप अपने Blog पर अपनी बनाई हुई रचनाऐं जैसे कि कविताएं, कहानियां आदि लिखते हैं, तो आप अपनी उन कविताओं व कहानियों का पूरा एक Collection Create कर सकते हैं, जिन्‍हें लोगों ने सबसे ज्‍यादा पसन्‍द की हैं और फिर उस Collection को एक PDF Format EBook में Convert कर सकते हैं।

किसी भी Information के Collection को PDF Format में Convert करने के लिए आप Open Office नाम के Software का प्रयोग कर सकते हैं, जो कि MS-Word के समान ही होता है। इस Software का प्रयोग करके आप अपने Word Document को भी PDF Format में Convert कर सकते हैं। साथ ही आप अपने PDF Document को सुरक्षित रखने के लिए उस पर Copying/Editing/Printing जैसी सुविधाओं को बन्‍द भी कर सकते हैं जिससे कोई भी व्‍यक्ति आपके PDF Document में Change नहीं कर सकता।

जिस किसी भी विषय से सम्‍बंधित जानकारी आपके पास है, उस जानकारी को एक EBook या Report के रूप में Compile करके आप Online Sell कर सकते हैं। आप जिस विषय पर कोई EBook/Report Create करना चाहते हैं उस विषय से सम्‍बंधित बहुत सारी जानकारी आप इन्‍टरनेट पर भी प्राप्‍त कर सकते हैं जो कि पहले से उपलब्‍ध है। आप इन्‍टरनेट पर उपलब्‍ध जानकारियों को Collect करके बडी ही आसानी से एक Information Product Create कर सकते हैं।


How To Sell Online
Online Selling करने में सबसे ज्‍यादा परेशानी Payment Processing में आती है। यानी सामान्‍यतया लोग ये नहीं जानते कि वो किसी Information Product को आसानी से किस तरह से Online Sell कर सकते हैं और Customer द्वारा Pay किए जाने वाले पैसे को किस तरह से प्राप्‍त कर सकते हैं।

Internet पर Selling करने से प्राप्‍त होने वाले पैसे को प्राप्‍त करने के लिए अब आपको कुछ भी करने की जरूरत नहीं है। ना ही आपको E-Commerce की जानकारी होना जरूरी है ना ही आपको कोई E-Commerce Website बनाने की जरूरत है। आप बडी ही आसानी से व Secure तरीके से अपने Free Blog द्वारा भी Online Selling कर सकते हैं।

Online Selling करने के लिए सबसे पहले आप अपना कोई Information Product Create कीजिए और फिर PayPal की Website पर जाकर एक Premier PayPal A/c Create कीजिए। यदि आपको PayPal Premier A/c Create करने से सम्‍बंधित जानकारी नहीं है, तो आप PayPal से सम्‍बंधित सारी जानकारी इसी Blog पर विस्‍तार प्राप्‍त कर सकते हैं।

PayPal पर Premier PayPal A/c Create कर लेने के बाद आप PayLaodz की Website पर जाईए। PayLoadz Internet पर Online Selling करवाने के लिए एक Intermediator की तरह काम करता है। इस Website पर पहुंचने पर आपको निम्‍नानुसार Webpage दिखाई देगा:



जब आप "SIGN UP NOW" Button पर Click करेंगे, तब आपके सामने PayLoadz का Sign Up Form Display होगा जो कि निम्‍नानुसार होता है:


इस Form में आपको वो Email Address भरना होता है, जिस Email Address का प्रयोग आपने अपना PayPal A/c Create करते समय किया था क्‍योंकि PayLoadz Company आपको आपका Payment आपके इसी Email Address पर भेजती है। यदि आपने अपने PayPal A/c में प्रयोग किए गए Email Address के स्‍थान पर किसी अन्‍य Email Address का प्रयोग किया तो आपका Payment उस Email Address वाले व्‍यक्ति को मिल जाएगा, जिसके Email Address का प्रयोग आपने अपने PayLoadz A/c में किया है।

Form को भरने के बाद आपको Register Button पर Click करना होता है। जैसे ही आप Register Button पर Click करते हैं, आपके सामने एक Congratulation Webpage Display होता है साथ ही आपने जिस Email Address का प्रयोग PayLoadz A/c Create करने के लिए किया है, उस Email Address पर एक Confirmation Email आता है, जिसमें एक Hyperlink होता है।



जैसे ही आप इस Hyperlink को Click करते हैं, आपका PayLoadz A/c Activate हो जाता है और निम्‍नानुसार एक नया Webpage Display होता है:


इस Webpage पर दिखाई देने वाले Click Here Hyperlink पर Click करते ही आप फिर से PayLoadz Website के Home Page पर पहुंच जाते हैं, जहां आपको Username/Password भरके अपने PaLoadz A/c में Login करना होता है। Username के रूप में आपको वही Email Address लिखना होता है, जिसे आपने अपना PayLoadz A/c Create कतरे समय Specify किया था और Password के रूप में आपको अपना Specified Password Use करना होता है। PayLoadz A/c Create होते ही आप आपको एक और Email प्राप्‍त होता है, जिसमें आपके PayLoadz A/c के Username/Password की जानकारी होती है। Login करते ही आपके सामने निम्‍नानुसार एक और Webpage Display होता है:


No Thanks Hyperlink पर Click करते ही आपके सामने निम्‍नानुसार एक और Webpage Diplay होगा-


इस Webpage पर दिखाई देने वाले Click here Hyperlink को Click करते ही आपके सामने एक और नया Webpage Display होता है जहां आपको अपने Create किए जा रहे नए Product की जानकारी देनी होती है। सारी जरूरी जानकारियों को भरने के बाद आपको "Submit Product Information" Button पर Click करना होता है। Click करते ही आपके सामने एक और नया Webpage दिखाई देता है। यहां दिखाई देने वाले Browse Button पर Click करके आपको अपने Computer पर Stored अपनी उस EBook/Report को Select करना होता है, जिसे आप Sell करना चाहते हैं। File Select करने के बाद आपको Upload Button पर Click करना होता है। एसा करते ही आपकी File Upload हो जाती है।

File Upload हो जाने के बाद हमें Selling Menu के "Generate Button Code" Option पर Click करना होता है। एसा करते ही आपके सामने एक नया Webpage Display होता है जहां वांछित Option Select करने के बाद "Generate HTML Button Code" Button पर Click करते ही एक नया Webpage Display होता है, जिस पर दिखाई देने वाले "Buy" Button के HTML Code को आप अपनी Website/Blog पर उपयोग में लेकर अपने Product को Sell कर सकते हैं।

जब भी कोई User आपके इस Buy Button पर Click करता है, उसके सामने PayLoadz का Payment Processing Page Display हो जाता है। Customer के अपने VISA/MasterCard Enabled Credit Card/Debit Card द्वारा Payment करते ही Customer के सामने Download Page Display होता है जहां से वह अपना खरीदा हुआ Product Download कर लेता है।

Payloadz A/c द्वारा Selling करने पर आपको तब तक कोई Charge नहीं देना होता है, जब तक कि आप हर महीने $50 Dollar कमाते हैं। $50 से $250 तक की Selling होने पर आपको $5 Dollar PayLoadz को देना होता है जो कि वह आपके balance में से ले लेता है लेकिन यदि आपकी मासिक आय $50 से कम हो, तो PayLoadz आपको कोई Charge नहीं करता।

आपका जो भी Payment Payloadz A/c में होता है, PayLoadz उसे हर महीने आपके PayPal A/c में Transfer कर देता है, और PayPal A/c के Payment को आप सीधे ही अपने Bank A/c में Withdraw कर सकते हैं।
ये जानकारी आपको कैसी लगी? किसी भी तरह की समस्‍या हो तो Comment Box का प्रयोग करें।

Monday

Ways To Make Money On The Internet

अक्‍सर जब लोग Internet पर पैसा कमाने के बारे में सोंचते हैं, तो सबसे पहला सवाल उनके दिमाग में यही आता है कि आखिर Internet पर पैसा कैसे कमाया जा सकता है और ऐसे कौन-कौन से तरीके हैं, जिनसे Ineternet पर पैसा बनाया जा सकता है। तो अब हम आगे आने वाले कुछ Posts में इसी विषय पर बात करेंगे और उन विभिन्‍न तरीकों के बारे में विस्‍तार से बताने की कोशिश करेंगे जिनके बारे में जानकर आप ये तय कर सकें कि आप किस तरीके को उपयोग में लेकर Internet पर पैसा कमा सकते हैं अथवा आपके लिए कौनसा तरीका सबसे ज्‍यादा उपयुक्‍त है जो आपकी रूचि व सुविधा के अनुकूल है।

Internet पर कई ऐसे काम हैं, जिन्‍हें करके आप कुछ Side Income कर सकते हैं। कुछ तरीके बहुत ही सरल हैं लेकिन Short Term हैं। ऐसे तरीकों में आपको तुरन्‍त Income होना शुरू हो जाता है, लेकिन इन तरीकों में ना तो ज्‍यादा पैसा होता है, ना ही ये तरीके लम्‍बे समय तक आपको कोई Income देते हैं। इन तरीकों से प्राप्‍त होने वाली Income को Active Income कहा जाता है और इस तरीके को अपनाने पर आपको हर रोज बहुत सारी मेहनत करनी पडती है। जबकि कुछ तरीके ऐसे हैं, जिनमें आपको तुरन्‍त Income होना शुरू नहीं होता, लेकिन ये तरीके आपके लिए Passive Income के रूप में काम करते हैं यानी इन तरीकों से आपको लम्‍बे समय तक थोडी-थोडी Income प्राप्‍त होती रहती है। इन तरीकों में भी आपको हर रोज मेहनत नहीं करनी होती है, लेकिन ये मेहनत पहले तरीके की तुलना में काफी कम होती है।

यदि आप चाहें तो इन दोनों ही तरीकों में से किसी एक तरीके को चुन सकते हैं अथवा आप अपनी सुविधानुसार पहले एक तरीके को चुनकर शुरूआत कर सकते हैं और बाद में दूसरे तरीकों को भी उपयोग में ले सकते हैं, जो कि एक ज्‍यादा बेहतर तरीका होता है। यानी आप इन दोनों ही तरीकों में से चाहे किसी भी तरीके को उपयोग में लेकर शुरूआत करें, बाद में अपनी सुविधानुसार आप इन दोनों ही तरीकों को Mixup करके Online Income कर सकते हैं। तो चलिए… सबसे पहले हम उन विभिन्‍न प्रकार के Online Income से सम्‍बंधित तरीकों के नाम जान लेते हैं और हर तरीके के बारे में हम आगे आने Posts में विस्‍तार से बात करेंगे:

1 Setup Online Business - Selling Own Products
2 Pay Per Sale - Affiliate Marketing – Selling Other’s Products
3 Pay Per Click (PPC) OR Pay Per Impression (PPM)
Selling our visitor’s traffic to advertisers
4 Pay Per Action (PPA) OR Pay Per Conversion
Selling our visitor’s traffic to advertisers
5 Pay Per Lead (PPL) – Selling our visitor’s lead to Advertisers
6 Pay Per Post (PPP) – Write about Advertisers product’s on your blog/site
7 Paid Surveys Networks – Taking part in online surveys
8 Paid To Click – PTC
9 Paid To Read – PTR
10 Paid To Surf – PTS

यहां हमने कुल 10 तरीके बताए हैं और ऐसे ही और भी कई अन्‍य तरीके हैं, जिनके बारे में हम आगे जानेंगे, लेकिन वास्‍तव में Internet पर पैसा कमाने का केवल एक ही तरीका है और वो है अपना स्‍वयं का कोई Product Sell करना। बाकी के सभी अन्‍य तरीके किसी ना किसी तरह से इसी एक तरीके को विकसित करने के लिए उपयोग में लिए जाते हैं। लेकिन फिलहाल हम इन दस तरीकों पर ही चर्चा करेंगे क्‍योंकि ये ही ऐसे तरीके हैं जिन्‍हें Internet पर सबसे ज्‍यादा उपयोग में लिया जाता है।

इन दसों तरीकों में सबसे पहला तरीका सबसे ज्‍यादा Passive Income देता है, जिसमें आपको अपना ही कोई Product Online Sell करना होता है। दूसरा तरीका पहले तरीके की तुलना में कम Income देता है, लेकिन ये तरीका उस स्थिति में काफी उपयोगी होता है, जब आपके पास Online Sell करने के लिए अपना कोई Product नहीं होता और आप किसी दूसरे व्‍यक्ति के Product को Online Sell करके Commission प्राप्‍त करना चाहते हैं। इन दोनों तरीकों को बहुत कम लोग उपयोग में लेते हैं क्‍योंकि Online Selling करना सबसे मुश्किल काम होता है। इस तरीके को केवल वे लोग ही उपयोग में लेते हैं, जो Long Term Passive Income प्राप्‍त करना चाहते हैं। सामान्‍यतया ये दोनों तरीके काफी Research Work व मेहनत मांगते हैं, इसलिए लोग इन तरीकों को कम पसन्‍द करते हैं। इन दोनों तरीकों में बहुत सारे Traffic की नहीं बल्कि Targeted Traffic की जरूरत होती है।

तीसरा, चौथा, पांचवा, छठा व सांतवा तरीका आज के समय में सबसे ज्‍यादा लोग उपयोग में लेते हैं। इन तरीकों में आपको बहुत सारे Traffic की जरूरत होती है, फिर भले ही वह Traffic Targeted हो या Un-targeted हो। इन तरीकों में आपको कुछ भी Sell नहीं करना होता, बल्कि केवल अपने Blog/Website पर Traffic बढाना होता है। आपके Blog/Website पर जितना ज्‍यादा Traffic होता है, इन तीनों तरीकों से Online Side Income प्राप्‍त करने की सम्‍भावना उतनी ही ज्‍यादा होती है। इसलिए इन तरीकों में आपको केवल अपने Blog/Website का Traffic बढाने के लिए ही मेहनत करनी होती है।

पहले सात तरीकों में आपके पास कम से कम एक Website/Blog होना जरूरी होता है, तभी आप कोई Online Income कर सकते हैं। लेकिन आंठवें व उसके बाद के तरीकों में आपके पास अपनी Website/Blog का होना जरूरी नहीं होता। साथ ही इन तरीकों में मेहनत तो काफी होती है, लेकिन उतनी Income नहीं होती और ये Income Permanent भी नहीं होती है। यानी इन तरीकों से Online Income करने के लिए आपको हर रोज काम करना जरूरी होता है साथ ही ये और ऐसे ही जो अन्‍य तरीके Internet पर उपलब्‍ध हैं, वे ही सबसे ज्‍यादा असुरक्षित हैं। यानी इन तरीकों में ही सबसे ज्‍यादा Scam होते हैं, जहां काफी मेहनत करने के बाद भी आपको कोई पैसा नहीं मिलता, इसलिए इन तरीकों को चुनने से पहले काफी खोजबीन करके ये पता कर लेना आपके लिए ठीक रहेगा कि आप जिस Online Company को इस तरह की Side Income के लिए Join करने जा रहे हैं, वे Online Companies विश्‍वसनीय हैं या नहीं।

Sunday

How to Withdraw Money from PayPal A/c

आज हम आपको बता रहे हैं कि PayPal A/c में आया हुआ आपका पैसा आप किस तरह से और कितने तरीकों से प्राप्‍त कर सकते हैं। अपने PayPal A/c से अपना पैसा Withdraw करने के लिए आपको सबसे पहले अपने PayPal A/c में अपने Username/Password द्वारा Login करना होता है। जैसे ही आप अपने PayPal A/c में Login करते हैं, आप अपने PayPal A/c के “Overview” Menu Option के Page पर पहुंचते हैं। इस Menu में आपको Overview, Add Funds, Withdraw, History, Resolution Center व Profile नाम के विभिन्‍न Menu Options दिखाई देते हैं। इन Menu Options में आपको “Withdraw” Menu Option को Click करना होता है। इस Withdraw Menu Option को Click करते ही आपके सामने Withdraw Funds Heading का Webpage आता है, जहां पर PayPal Company आपको अपना पैसा तीन तरीकों से Withdraw करने की सुविधा देता है।



1) आप अपना पैसा सीधे ही अपने Bank A/c में प्राप्‍त कर सकते हैं।

2) आप अपना पैसा Check द्वारा अपने PayPal A/c में Specify किए गए Address पर प्राप्‍त कर सकते हैं। और

3) आप अपना पैसा अपने Debit Card / Credit Card A/c में प्राप्‍त कर सकते हैं।
 

तीनों ही तरीकों में हमें सबसे सबसे सही व सु‍रक्षित तरीका अपने Bank A/c में अपना पैसा प्राप्‍त करना ही लगता है, क्‍योंकि Check के खो जाने की या Return हो जाने की सम्‍भावना रहती है और यदि एसा होता है, तो PayPal Company Check Return होने की स्थिति में आप पर 250/- रूपए का Fine Charge करती है। जबकि आप अपना पैसा अपने Debit Card / Credit Card A/c में तभी प्राप्‍त कर सकते हैं, जबकि पहले आपने अपना Debit Card / Credit Card अपने PayPal A/c से Link व Confirm करवाया हो।



अपने Card को अपने PayPal A/c से Link करने में हमें कोई परेशानी नहीं होती है, लेकिन हम अपने Card को PayPal Company में उसी स्थिति में Confirm करवा सकते हैं, जबकि हमें हमारा Bank Online Banking की सुविधा प्रदान करता हो, क्‍योंकि PayPal Company हमें हमारे Card को PayPal Company में Comfirm करवाने के लिए 4-Digit का एक Code भेजता है। लेकिन वो Code हमें केवल हमारे Online Bank A/c पर ही दिखाई देता है। साथ ही इस Confirmation में PayPal Company हमारे Credit / Debit Card से $1.95 यानी लगभग 100 रूपए लेता है और वह रूपया हमें फिर से अपने PayPal A/c में तभी प्राप्‍त होता है, जबकि हम हमारे Card को Confirm करने के लिए उन 4-Digit के Code को उपयोग में लेते हैं।


Withdrawing Money from PayPal A/c to Bank A/c
जब हम PayPal A/c से अपने Bank A/c में पैसा Transfer करते हैं, तो इस Transaction को Confirm होने में यानी हमारे Bank A/c में पैसा आने में 5-7 दिन लगते हैं। साथ ही यदि हम 7000 रूपए या उससे ज्‍यादा पैसा Withdraw करते हैं, तो हमें PayPal Company को किसी तरह का Service Charge नहीं देना होता है, लेकिन यदि हम 6999 रूपए तक का Amount Withdraw करते हैं, तो PayPal Company Service Charge के रूप में 50 रूपए Commision लेता है। इसके अलावा हमारा Bank भी इस Transaction के लिए कुछ ना कुछ Service Charge लेता है। जब हम PayPal A/c से अपने Bank A/c में अपना पैसा Withdraw करते हैं, तो हमें कम से कम $10 Withdraw करना जरूरी होता है। इससे कम Amount को Withdraw नहीं किया जा सकता। हम इस Webpage पर दिखाई देने वाले “minimum withdrawal limit” Hyperlink पर Click करके विभिन्‍न प्रकार की Currencies की Minimum Withdrawal Limit की जानकारी प्राप्‍त कर सकते हैं। जब हम हमारा पैसा Indian Bank A/c में प्राप्‍त करना चाहते हैं, तब हमें इस Webpage पर दिखाई देने वाले पहले “Withdraw funds to your bank account” Hyperlink को Click करना होता है। जब हम इस Hyperlink को Click करते हैं, तब हमारे सामने एक नया Webpage Display होता है, जहां हमें हमारे PayPal A/c का वह Balance दिखाई देता है, जिसमें से हम हमारे Bank A/c में Withdraw करना चाहते हैं। Amount नाम के Text Box में हमें वह Amount Specify करना होता है, जिसे हम हमारे Bank A/c में Withdraw करना चाहते हैं। इस Page पर दिखाई देने वाले Combo Box में हमें हमारे उस Bank A/c के नाम व अन्तिम चार Number दिखाई देते हैं, जिन्‍हें हमने हमारे PayPal A/c से Link किया है। हम हमारे PayPal A/c से एक से ज्‍यादा Bank A/c को Link कर सकते हैं और हम जितने Bank A/c को अपने PayPal A/c से Link करते हैं, उन सभी Banks के नाम व चार Numbers हमें इस Combo Box यानी List Box में दिखाई देते हैं। यदि आपने अपना Bank A/c अपने PayPal A/c से अभी तक Link नहीं किया है, तो इसी Webpage पर दिखाई देने वाले “Add bank account” Hyperlink पर Click करके आप अपना Bank A/c आने PayPal A/c से Link कर सकते हैं। अपने Bank A/c को अपने PayPal A/c से Link करने की पूरी जानकारी आप इसी Blog पर “Linking Bank A/c with PayPal A/c” Post पर प्राप्‍त कर सकते हैं। यदि आप जानना चाहते हैं कि आप जितना Amount Withdraw कर रहे हैं, वह Amount भारत के कितने रूपयों के बराबर है, तो आप इस जानकारी को इसी Webpage पर दिखाई देने वाले “Currency Converter” Hyperlink को Click करके प्राप्‍त कर सकते हैं। जब आप इस Hyperlink को Click करते हैं, तब आपके सामने एक नया Webpage आता है, जिसमें आप विभिन्‍न प्रकार की Currencies को Convert करके उनकी Actual Rate जान सकते हैं। इस Webpage पर दिखाई देने वाली सभी Information भरने के बाद आपको इस Page पर दिखाई देने वाले Continue Button पर Click करना होता है और आगे आने वाले Confirmation Webpages में दी गई Information के आधार पर Follow करना होता है। 


Withdrawing Money from PayPal A/c through Check
जब आप अपने PayPal A/c का पैसा Check द्वारा प्राप्‍त करना चाहते हैं, तो आपको ये Check 4-6 दिन में प्राप्‍त होता है। साथ ही Check Issue करने के बदले में PayPal Company $5 Service Charge करता है। PayPal Company जो Check Issue करता है, उसे उसी Bank A/c में Deposit किया जा सकता है, जिसके नाम से Issue किया गया है। यदि आपका नाम PayPal A/c व Bank A/c दोनों में अलग-अलग है, तो फिर आप इस Check को अपने Bank A/c में Deposit नहीं करवा सकते और आप इस Check को रोक भी नहीं सकते, इसलिए ये Check फिर से PayPal Company को Return होता है, जिसके बदले में PayPal Company आप पर 250/- रूपए का Fine Charge करता है। इसलिए आप अपना PayPal A/c उसी नाम से Create कीजिए, जिस नाम का आपका Bank A/c है। सही नाम का PyaPal A/c Create करने से सम्‍बंधित पूरी जानकारी के लिए इसी Blog के “Creating Personal / Premiem PayPal A/c” Heading के दोनों Post को देखिए। जब आप अपने PayPal A/c से अपना पैसा Check द्वारा प्राप्‍त करना चाहते हैं, तो आपको “Withdraw Funds” Heading वाले Webpage पर दिखाई देने वाले दूसरे Hyperlink “Request a check from PayPal” को Click करना होता है। जब हम इस Hyperlink पर Click करते हैं, तब आपके सामने एक नया Webpage Display होता है, जहां आपको अपना PayPal Balance व Amount नाम का Text Box दिखाई देता है। इस Text Box में आपको वह Amount Specify करना होता है, जिसे आप Check द्वारा अपने PayPal A/c से Withdraw करना चाहते हैं। Withdrawing Amount आपके PayPal A/c के Balance Amount से ज्‍यादा नहीं होना चाहिए। इस Form पर आपको वह नाम दिखाई देता है, जिस नाम का Check PayPal Company Issue करता है। इस Form पर आप अपना First Name तो Change कर सकते हैं, लेकिन आप अपना Last Name Change नहीं कर सकते। इसलिए यदि यहां पर दिखाई देने वाला नाम वो नहीं है, जो कि आपके Bank A/c में है, तो सबसे पहले आप PayPal Company में अपना सही नाम Register करवाएं। यदि आपने सही नाम का PayPal A/c Create नहीं किया है, तो फिर PayPal Company से नाम Change करने की Request करने के बजाय अपने सही नाम का एक नया PayPal A/c Create करें, क्‍योंकि यदि आप PayPal Company में अपना नाम Change करने की Request करेंगे, तो आपको बहुत सारी Formalities PayPal Company को भेजनी पडेंगी, जो कि एक लम्‍बा Process है। इसी Webpage पर आपको वह Address दिखाई देता है, जिसे आपने अपना PayPal A/c Create करते समय Specify किया था। यदि ये Address गलत हो, तो आपको आपका Check सही Address पर प्राप्‍त नहीं होगा। इसलिए यदि आप चाहें तो इसी Webpage पर दिखाई देने वाले “Add an address” Hyperlink पर Click करके आप अपना नया Address Specify कर सकते हैं। आप जो Address Specify करते हैं, आपका Check उसी Address पर आता है, इसलिए आप अपना Address बिल्‍कुल सही रखें। जब आप Check द्वारा अपने PayPal A/c से अपना पैसा Withdraw करते हैं, तब आप केवल $3000 तक ही Check द्वारा Receive कर सकते हैं, साथ ही आप हर महीने केवल $500 ही Check द्वारा मंगवा सकते हैं। इसके अलावा जब आप Check द्वारा अपना पैसा मंगवाते हैं, तब आपको कम से कम $150 Withdraw करना जरूरी होता है। PayPal Company इससे कम Amount का Check Issue नहीं करती है। सभी Information भरने के बाद आपको इस Page पर दिखाई देने वाले Continue Button पर Click करना होता है और आगे आने वाले Confirmation Webpages में दी गई Information के आधार पर Follow करना होता है।


Withdrawing Money from PayPal A/c to Bank Card
यदि आप अपने PayPal A/c का पैसा अपने Bank Card पर प्राप्‍त करना चाहते हैं, तो सबसे पहली शर्त यही है, कि आपके पास VISA Card हो, फिर भले ही वह VISA Credit Card हो अथवा VISA Debit Card हो। साथ ही जब आप अपने Card में पैसा प्राप्‍त करना चाहते हैं, तब PayPal Company आपसे Service Charge के रूप में $5 लेता है और आपके PayPal A/c का पैसा आपके Card में आने में 5-7 दिन का समय लगता है। साथ ही यदि आपका पैसा एक Currency से दूसरी Currency में Convert करना पडता है, यानी यदि आप US Dollars (USD) में अपना पैसा Withdraw करते हैं लेकिन आपके Card में वह पैसा Indian Rupees (INR) के रूप में आता है, तो इस Conversion का भी Extra Charge लगता है, जो आपको Pay करना पडता है। अपने PayPal A/c का पैसा अपने VISA Card में प्राप्‍त करने के लिए आपको “Withdraw Fund” Heading के Webpage पर दिखाई देने वाले तीसरे Hyperlink “Withdraw funds to your card” को Click करना होता है। जैसे ही आप इस Hyperlink पर Click करते हैं, आपके सामने एक नया Webpage Show होता है, जिस पर आपका नाम पहले से ही लिखा हुआ होता है। यहां आपको आपके उस Card का Number व Verification Number तथा आपके Card के Expire होने की Date Specify करनी होती है, जो कि आपके VISA Card पर पहले से ही लिखी होती है। यदि आपका Card पहले से ही आपके PayPal A/c से Link हो, तो आप उस Card को Select कर सकते हैं अन्‍यथा आपको ये सभी Information Fill करके Webpage पर दिखाई देने वाले Add Card Button को Click करना होता है और आगे आने वाली Information को Follow करना होता है। चूंकि हम VISA Card उपयोग में नहीं लेते हैं, इसलिए हम इसके सम्‍बंध में इससे ज्‍यादा जानकारी नहीं दे सकते हैं। लेकिन यदि आप VISA Card में पैसा प्राप्‍त करना चाहते हैं, तो PayPal Website पर आगे आने वाले Webpages पर दी गई जानकारियों को ध्‍यान से पढिए। उस पर वे सभी जानकारियां होती हैं, जो आपके Card के पैसा Withdraw करने से सम्‍बंधित होती हैं। हमने अभी तक PayPal Company द्वारा प्रदान किए गए तीन Withdrawal तरीकों के बारे में जाना। आप स्‍वयं समझ सकते हैं कि अपने PayPal A/c से अपना पैसा Withdraw करने का सबसे सरल, सस्‍ता व Secure तरीका यही है कि हम अपने PayPal A/c का पैसा सीधे ही अपने Bank A/c में Transfer करें। तो इस तरह से हमने PayPal पर अपना PayPal A/c Create करने और उससे अपना पैसा Withdraw करने के बारे में जाना। यदि हम PayPal Company द्वारा दी जा रही सुविधाओं व PayPal Company द्वारा लिए जा रहे Charges के बारे में सारांश में बात करें, ये सारांश निम्‍नानुसार हो सकता है:

1) PayPal Website पर किसी भी तरह का PayPal A/c Create करना बिल्‍कुल Free है।

2) आने PayPal A/c द्वारा किसी को भी Online Payment करना बिल्‍कुल Free है।

3) 7000/- या उससे ज्‍यादा रूपया सीधे ही अपने Bank A/c में प्राप्‍त करना बिल्‍कुल Free है लेकिन यदि 7000/- से कम रूपया Withdraw किया जाए, तो आपको 50/- रूपया Charge देना होगा।

4) यदि आपने Personal PayPal A/c Create किया है, तो किसी दूसरे व्‍यक्ति के PayPal A/c से आने वाले रूपयों को अपने PayPal A/c में प्राप्‍त करना बिल्‍कुल Free है, लेकिन फिर यदि आप किसी व्‍यक्ति द्वारा आने वाले Credit / Debit Card का पैसा अपने PayPal A/c में प्राप्‍त करना चाहें, तो आप पूरे साल में केवल पांच ही एसे Payments अपने PayPal A/c में प्राप्‍त कर सकते हैं साथ ही आपको आने वाले Payment पर लगभग 5.5% Commission PayPal Company को देना होगा। जबकि यदि आपने Premiem PayPal A/c या Business PayPal A/c Create किया है, तो किसी के Paypal A/c Balance से आने वाले पैसों पर आपको 2.5% से 3.5% Commision PayPal Company को देना होता है, और आप जितने चाहें उतने Credit Card / Debit Card Payments को Receive कर सकते हैं। 

5) यदि PayPal A/c से पैसा Withdraw करते समय PayPal Company को Currency Conversion करना पडता है, तो इस Conversion के लिए PayPal Company 2.5% Charge करता है। PayPal Company द्वारा लिए जाने वाली विभिन्‍न प्रकार की Feeses की जानकारी प्राप्‍त करने के लिए आप PayPal की Website के किसी भी Page पर Fees नाम के Hyperlink पर Click करके पूरी व Updated जानकारी प्राप्‍त कर सकते हैं।  


Friday

What is IFSC Codes and How To Get It

हमारे देश में उन सभी Banks को एक Unique Number Assign किया गया है, जो International Level पर Online Payment करने या Online Payment प्राप्‍त करने की सुविधा देती हैं। हमारे देश में लगभग 63000 से ज्‍यादा Banks हैं, जो International Level पर Online सुविधाएं प्रदान करती हैं। यदि आपका बैंक Online Banking या International Level पर पैसा Pay/Receive करने की सुविधा देता है, तो आपके Bank का भी एक Unique Bank Number होगा, जिससे आपके Bank को सारी दुनियां में Uniquely Identify किया जाता है। इसी Number को IFSC Code या Indian Financial System Code कहा जाता है।

PayPal Company आपके Bank के IFSC Code के आधार पर ही आपके Bank को Identify करती है और आपके Bank A/c Number के आधार पर आपके Account को Identify करती है। IFSC Code Alphnumerical Characters का एक Group होता है, जिसका पांचवा Character हमेंशा एक Zero ( 0 ) होता है।

अपने Bank Branch के IFSC Code की जानकारी आपको अपने Bank A/c के Check Book से प्राप्‍त हो सकती है। सामान्‍यतया आपके Check Book पर आपके Bank Branch का IFSC Code लिखा हुआ रहता है। यदि आपके पास Check Book नहीं है, तो अपने Bank Branch के IFSC Code का पता लगाने के लिए आप मेरे दूसरे Blog http://ifsc-codes.blogspot.com पर जा सकते हैं। इस Blog पर भारत के उन सभी Bank Branch का IFSC Code दिया गया है, जो Online Payment Transaction का काम करते हैं।

आप एक Trick द्वारा भी अपने Bank Branch के IFSC Code का पता लगा सकते हैं। हालांकि ये Trick कुछ अविश्‍वसनीय हो सकती है, इसलिए इस Trick के आधार पर प्राप्‍त होने वाले IFSC Code को http://ifsc-codes.blogspot.com Blog पर दिए गए Bank के IFSC Code से Match करके Confirm कर लेना चाहिए, हालांकि अभी तक हमने जितने भी Bank Branch के IFSC Code को इस Trick द्वारा प्राप्‍त किया है, वे सभी सही रहे हैं।

हर IFSC Code 11-Characters का होता है जिसके :
पहले के चार Characters आपके Bank के नाम के Short Name को Refer करते हैं।
पांचवा Character हमेंशा एक Zero ( 0 ) होता है और
अंतिम 6 Characters का पता आप अपने Bank A/c के Pass Book के अपने A/c Number से लगा सकते हैं। यानी आपके Bank A/c Number के शुरूआत के 6 Characters ही इस IFSC Code के अन्तिम 6 Characters होते हैं।

चलिए, एक उदाहरण द्वारा समझते हैं। मानलो कि आपने Punjab National Bank में अपना A/c Open करवाया है, जिसका Bank A/c Number 47870012121212 है। इस Bank Branch का IFSC Code इस तरह होगा:

First 4 Characters : PUNB आपके Bank का चार अक्षरों का छोटा नाम
Fifth Character : 0 Zero
Last 6 Characters : 478700 आपके Bank A/c Number के पहले छ: अक्षर

इस तरह से आपके Bank Branch का IFSC Code “PUNB0478700” होगा, जिसे Confirm करने के लिए आप http://ifsc-codes.blogspot.com Blog का प्रयोग कर सकते हैं, जिसमें भारत के लगभग सभी NEFT Enabled Banks के IFSC Codes की जानकारी उपलब्‍ध है।


Linking Bank A/c with PayPal A/c

आज हम अपने Bank A/c को अपने PayPal A/c से Link करने के बारे में बता रहे हैं। जब तक आप अपने Bank A/c  को अपने PayPal A/c से Link नहीं करते हैं, तब तक आप अपने PayPal A/c में जमा पैसों को सीधे ही अपने Bank A/c में प्राप्‍त नहीं कर सकते हैं।

 

आपके पास अपना पुराना Bank A/c हो या ना हो, हम आपसे यही कहेंगे कि आप एक नया Bank A/c Open करवाईए और इस Bank A/c को केवल Online Payment देने या प्राप्‍त करने के लिए ही उपयोग में लीजिए। जब भी आप अपने PayPal A/c से पैसा Withdraw करके अपने Bank A/c में Deposite करें, उस Bank A/c से अपना पैसा निकालकर अपने पुराने Bank A/c में Deposite करवा दीजिए। ताकि यदि किसी कारणवश आपके इस नए Bank A/c की Information Leak हो भी जाए, तो भी कोई आपके Bank A/c से ज्‍यादा पैसा प्राप्‍त ना कर सके।

 

अपने इस नए Bank A/c में आप केवल उतना ही पैसा रखिए, जितना आपका Bank A/c Continue रखने के लिए जरूरी हो। सामान्‍यतया हर Bank की अपनी एक Minimum Account Balanc Limit होती है, जो कि 500 रूपए से लेकर 1000 तक होती है। इसलिए आप अपने इस नए Bank A/c में Bank की Minimum Limit जितना ही पैसा रखिए और जो भी पैसा आपको Online प्राप्‍त होता है, उसे तुरन्‍त अपने किसी दूसरे Bank A/c में Deposit करवा दीजिए, जिसे आप Online उपयोग में नहीं लेते हैं।

 

यदि Online Payment Pay/Receive करने के लिए आपने अपना नया Bank A/c Open करवा लिया है, तो अब अपने Bank A/c को अपने PayPal A/c से Link करने के लिए सबसे पहले आपको PayPal की Website पर जाकर अपने Username/Password से Login करके अपने PayPal A/c में पहुंचना होता है।

 

PayPal A/c में पहुंचने के बाद अपने PayPal A/c पर दिखाई देने वाले Profile Menu Option पर Mouse Pointer को Place करने पर चार Menu Options दिखाई देंगे। इन Options में आपको “Add/Edit Bank Account” Menu Option पर Click करना होता है। जैसे ही आप इस Option पर Click करते हैं, आपके सामने एक नया Webpage Display होता है, जिस पर आपका First NameLast Name पहले से ही Show हो रहा होता है। इस PayPal Bank A/c Linking Form पर आपको अपने Bank का नाम, अपने Bank का IFSC Code व दो बार अपने Bank A/c के Number को Fill करना होता है।

 

आप जैसे ही इन चारों Information को Form पर दिखाई देने वाले Text Boxes में Fill करके Continue Button पर Click करते हैं, आपके सामने एक Confirmation Webpage आता है, जहां आप अपनी Fill की गई Information को एक बार फिर से Check कर सकते हैं और यदि आपने कोई गलत Information Fill कर दिया हो, तो Edit Button पर Click करके आप अपने Bank A/c की Information को फिर से सही कर सकते हैं। यदि आपको लगता है कि आपने अपने Bank A/c से सम्‍बंधित सभी जानकारियो को सही Fill किया हैं, तो आपको इस Confirmation Webpage पर दिखाई देने वाले “Add Bank Account” Button पर Click करना होता है। जैसे ही आप इस Button पर Click करते हैं, आपका Bank A/c आपके PayPal A/c से Link हो जाता है।

 

इस Webpage पर आप अपने सही Bank A/c Number को ही Specify करें। यदि आपने किसी दूसरे व्‍यक्ति के Bank A/c Number को Register कर दिया, तो आपका पैसा उस दूसरे व्‍यक्ति के Bank A/c में जमा हो जाएगा और यदि आपने गलत Bank का IFSC Code Fill कर दिया, तो अपना पैसा Redeem करते समय आपका पैसा आपके Bank A/c में नहीं आएगा और PayPal Company से गलत Bank A/c  में पैसा Withdraw करने के बदले में आप पर Bank Charge के साथ ही PayPal Company भी 250/- रूपये का Fine  कर देगा। इसलिए आप अपने सही Bank A/c Number व सही IFSC Code को ही Specify करें।

 

अगर आप IFSC Codes के बारे में नहीं जानते हैं, तो अपने Bank A/c को अपने PayPal A/c से Link करने से पहले IFSC Codes के बार में जानकारी जरूर प्राप्‍त कर लें। अपने Bank का IFSC Code प्राप्‍त करने का तरीका व IFSC Codes में बारे में विस्‍तार से जानकारी प्राप्‍त करने के लिए आप इसी Blog पर दिए गए “What is IFSC Codes and How To Get It” नाम के Post को पढें। यदि आप IFSC Codes के बारे में जानते हैं, तो अपने Bank का IFSC Code प्राप्‍त करने के लिए मेरे दूसरे Blog http://ifsc-codes.blogspot.comपर जा सकते हैं और अपने Bank का IFSC Code प्राप्‍त कर सकते हैं।

 

ये Post आपको कैसा लगा और क्‍या ये जानकारी आपके लिए फायदेमंद रही, कृपया Comment जरूर करें। आपके अच्‍छे व बुरे Comment हमें और अच्‍छा काम करने के लिए प्रेरित करते हैं।

 


Wednesday

Creating Personal or Premier PayPal A/c

आज हम PayPal Website पर अपना A/c Create करने से सम्‍बंधित जानकारी दे रहे हैं। यदि आपने PayPal पर अभी तक अपना A/c Create नहीं किया है, तो सबसे पहले आप नि‍म्‍न Graphical Hyperlink द्वारा Secure PayPal Website पर जाईए।


Sign up for PayPal and start accepting credit card payments instantly.


हम बार-बार आपको इस Blog पर दिए गए Graphical Hyperlink को ही Follow करके PayPal की Secure Website पर जाने के लिए इसलिए कहते हैं, क्‍योंकि ये Graphical Hyperlink PayPal Company स्‍वयं देती है और इस Graphical Hyperlink को केवल वे ही लोग उपयोग में ले सकते हैं, जिन्‍होंने पहले से ही PayPal की Website पर अपना Registration करवा रखा है। यदि आप इस Hyperlink द्वारा PayPal Website पर जाते हैं, तो आप मान सकते हैं कि आप वास्‍तव में PayPal Website पर ही जा रहे हैं और किसी Fraud Website पर Registration करवाकर अपनी व अपने Bank A/c की जानकारी नहीं दे रहे हैं। क्‍योंकि यदि आप गलत Website पर जाकर Registration करवाते हैं और अपनी व अपने Bank A/c की सभी जानकारियां दे देते हैं, तो आपको नुकसान होने की सम्‍भावना रहती है। इसलिए इसी Graphical Hyperlink द्वारा PayPal की Secure Website पर जाईए। और हां, यदि आप इसी Hyperlink को Follow करके PayPal की Site पर पहुंचते हैं, तो इसमें हमें भी कुछ Commision प्राप्‍त होता है।

जब आप PayPal की Website पर पहुंच जाते हैं, तब Website के Left Side में आपको Username व Password के दो Text Boxes दिखाई देते हैं, जहां पर आप अपने Username व Password का प्रयोग करके अपने PayPal A/c में Login कर सकते हैं। लेकिन यदि आपका PayPal A/c पहले से बना हुआ नही है, तो फिर सबसे पहले आपको अपना PayPal A/c Create करने के लिए इन्‍हीं Text Boxes के नीचे दिखाई देने वाले Sign Up Hyperlink को Click करना होता है।

PayPal Website में Sign Up Hyperlink चार जगहों पर होता है। सबसे पहला Sign Up Hyperlink PayPal Website के बिल्‍कुल Top में दिखाई देने वाले चार Options (Sign Up Log In Help Security Center) में होता है, दूसरा Sign Up Hyperlink Username/Password Text Boxes के बाद होता है और बाकी के दो Sign Up Hyperlinks, PayPal Home Page के Bottom में होते हैं। आप अपनी जरूरत के आधार पर इन चारों में से किसी भी Sign Up Hyperlink को Click कर सकते हैं। जब आप इन में से किसी भी Sign Up Hyperlink पर Click करते हैं, तब आप एक नए Sign Up Web Page पर पहुंचते हैं, जहां आपको ये तय करना होता है, कि आप किस तरह का PayPal A/c Create करना चाहते हैं।

यदि आपको पता नहीं है कि PayPal पर कितने तरह के PayPal A/c Create किए जा सकते हैं और कौनसा A/c किस जरूरत को पूरा कर सकता है, तो A/c Create करने से पहले इसी Blog पर दिए गए “Types of PayPal A/c” Blog Post को पढिए व अपनी Requirement को पूरा करने वाला PayPal A/c ही Create कीजिए। यदि आप हमारी सलाह मानें तो आपके लिए Premier PayPal A/c ही सबसे उपयुक्‍त रहेगा।

हम इस Post में PayPal Website पर Premier PayPal A/c Create करने के सम्‍बंध में ही चर्चा करेंगे। क्‍योंकि Personal PayPal A/c व Premier PayPal A/c दोनों ही PayPal A/c का Registration Form एक जैसा ही होता है और दोनों ही प्रकार के A/c Create करने के लिए हमें समान Informations को ही Fill करना होता है। इसलिए इस Webpage पर दिखाई देने वाले तीन तरह के PayPal A/c में से बीच वाले चित्र यानी Premier PayPal A/c के Get Started Button पर Click करना होता है। जब हम इस Button पर Click करते हैं, तब हमारे सामने PayPal Premier A/c Registration Form Display होता है। इस Registration Form पर जो Information भरना Compulsory होता है, उस Information के Text Boxes Yellow Color के दिखाई देते हैं और इन जानकारियों को बहुत ही ध्‍यान से व बिल्‍कुल सही भरना चाहिए।

PayPal A/c Registration Form में सबसे पहले Text Box में आपको अपना E-Mail Address भरना होता है। PayPal की Website पर अपने PayPal A/c में Login करने के लिए आपको User Name के रूप में इसी Email Address का प्रयोग करना होता है। आपके लिए यही अच्‍छा रहेगा कि आप एक नया Email Address Create करें और उसे केवल PayPal A/c के लिए ही उपयोग में लें। साथ ही जहां तक हो, अपने इस नए Email Address व उसके Password को गुप्‍त रखें, ताकि आपके अलावा कोई भी व्‍यक्ति आपके A/c में Login ना कर सके। यदि किसी को भी आपके PayPal Email ID व Password का पता चल गया, तो वह आपके PayPal A/c को उसी तरह से Access कर सकता है, जिस तरह से आप कर सकते हैं। इसलिए जितनी हो सके उतनी सावधानी बरतना आपके लिए ठीक रहेगा।

हम आपको यही सलाह देंगे कि आप अपना नया Email ID Google Mail पर ही बनाएं, क्‍योंकि केवल Google Mail ही पूरी तरह से Free Mail Service देता है। Yahoo, Rediffmail आदि Companies आपको पूरी Mail Service Free नहीं देते हैं। नया Email ID Create करने के लिए आप http://mail.google.com/ Web Site पर जा सकते हैं। आगे हम आपको बताऐंगे कि आप अपने Gmail ID को किस तरह से अपने Computer के Outlook Express से Connect कर सकते हैं व अपने सभी Emails को अपने Computer के Outlook Express Client Software में प्राप्‍त कर सकते हैं। जब आप Outlook Express को अपने Mail Server से Connect कर लेते हैं, तब आपको अपने हर Email को Check करने के लिए उनके Mail Servers की Website जैसे कि http://www.yahoo.com/ या http://www.rediffmail.com/ पर जा कर अपने Mail A/c में Login करने की जरूरत नहीं होती है, बल्कि केवल एक Click द्वारा आप अपने सभी Emails को अपने Computer पर Download कर लेते हैं और जब चाहें तब उन Emails को में Online या Offline Read कर सकते हैं। Yahoo व Rediffmail के Mail Server को आप अपने Outlook Express से Free में Connect नहीं कर सकते, बल्कि यदि आप इन जैसी Companies की सभी Mail Service को उपयोग में लेना चाहते हैं, यानी इन Companies के Mail Server को अपने Computer के Outlook Express से Connect करना चाहते हैं, तो आपको लगभग $9 यानी लगभग 400 रूपये हर म‍हीने देने होते हैं, जबकि Google Mail ये सभी Mail Services बिल्‍कुल Free देता है।

User Name के रूप में अपना Email Address भरने के बाद अगले दो Text Boxes में आपको अपना Password व Confirm Password Fill करना होता है। जहां तक हो सके, अपने User Name के Email Address व Password को काफी Powerful व Secure यानी गुप्‍त रखें, ताकि कोई दूसरा इनका प्रयोग करके आपके A/c में Login ना कर सके। इन्‍हीं User Name (Email Address) व Password का प्रयोग करके आप अपने PayPal A/c में Login करते हैं।


User Name व Password के Text Boxes को Fill करने के बाद अब आपको अपना नाम Specify करना होता है। नाम Specify करते समय आपको विशेष सावधानी बरतनी होती है। PayPal Company आपके First Name व Last Name के आधार पर ही आपके PayPal A/c का नाम तय करती है। यानी PayPal Company के लिए आपके Middle Name का कोई मायना नहीं होता है। PayPal Registration Form पर सही नाम का PayPal A/c Create करना बहुत जरूरी है, इसलिए नाम Specify करने की प्रक्रिया को हम एक उदाहरण द्वारा समझा रहे हैं, ताकि आप कोई गलती ना करें। यदि आपके Bank A/c में आपका नाम “Amit Kumar Sharma” है, तो आपको अपने नाम के तीनों हिस्‍सों को First Name, Middle Name व Last Name के Text Box में Specify नहीं करना होता है। यदि आप एसा करते हैं, तो PayPal Website पर आपके PayPal A/c का नाम “Amit Kumar Sharma” नहीं बल्कि “Amit Sharma” हो जाएगा, जो कि आपके Bank A/c के नाम से Match नहीं होगा। इसलिए “Amit Kumar Sharma” के नाम का PayPal A/c Create करने के लिए आपको First Name के Text Box में “Amit Kumar” व Last Name के Text Box में “Sharma” Specify करना होगा तथा Middle Name के Text Box को Empty छोडना होगा, तभी आपके PayPal A/c में आपका नाम “Amit Kumar Sharma” होगा, जो कि आपके Bank A/c के नाम के समान होगा। इसी तरह से यदि आपके Bank A/c में आपका नाम “Amit Kumar” है, तो PayPal के A/c Registration Form के First Name Text Box में “Amit” लिखना होगा, जबकि Last Name Text Box में “Kumar” Fill करना होगा ना कि Middle Name Text Box में। यदि आप Middle Name Text Box में “Kumar” व Last Name Text Box में “Sharma” लिखते हैं, तो PayPal Website पर आपका PayPal A/c “Amit Kumar” के नाम से नहीं बल्कि “Amit Sharma” के नाम से बन जाएगा, जो कि आपके Bank A/c के नाम से Match नहीं करेगा। इस प्रकार के नाम में आपको Middle Name Text Box को खाली छोडना होगा, तभी “Amit Kumar” नाम का PyaPal A/c Create होगा। उचित नाम Specify करने के बाद आपको Date Of Birth, Nationality, Address Line1, Address Line2, City, State व Postal Code को Specify करना होता है। जहां तक हो सके, ये सभी जानकारियां बिल्‍कुल सही भरें, ताकि यदि कभी कोई जरूरत पडे, तो PayPal Company से आने वाली विभिन्‍न प्रकार की जानकारी या Check आदि आपको अपने सही Address पर प्राप्‍त हो सके। ये सभी जानकारियां Specify करने के बाद अन्‍त में आपको अपने Debit Card / Credit Card की जानकारी देनी होती है। यदि आपके पास अपना Debit Card / Credit Card नहीं है, तो भी आप अपना PayPal A/c Create कर सकते हैं और अपने Card को अपने PayPal A/c से बाद में भी Link कर सकते हैं। फिलहाल आप “Link my credit card so I can start shopping right away (recommended)” Option के साथ दिखाई देने वाले Check Box को Uncheck कर दीजिए। अपने Card को अपने PayPal A/c से Link व Confirm करने से सम्‍बंधित जानकारी इसी Blog पर “How To Link Debit Card - Credit Card With PayPal A/c” नाम की Post पर पढ सकते हैं। अब अपना PayPal A/c Create करने के लिए आपको Registration Form पर दिखाई देने वाले “I agree, create my account” नाम के Button पर Click करते ही हमारा PayPal A/c Create हो जाता है लेकिन चूंकि हमने अपने Credit Card / Debit Card को अपने PayPal A/c से Link नहीं किया है, इसलिए एक बार फिर से हमारे सामने अपना Card अपने PayPal A/c से Link करने के लिए एक Webpage Display होता है। लेकिन चूंकि हम अभी अपना Card अपने PayPal A/c से Link करना नहीं चाहते हैं, इसलिए हम इसी Web Page पर दिखाई देने वाले “Go to My account” Hyperlink पर Click करके सीधे ही अपने Newly Created PayPal A/c में पहुंच जाते हैं। यही वह A/c है, जिसका प्रयोग करके आप 192 देशों में Money Transfer की सुविधा प्राप्‍त कर सकते हैं, Online पैसा प्राप्‍त कर सकते हैं Online पैसा भेज सकते हैं, Online Purchasing कर सकते हैं और Online Selling कर सकते हैं। ये आपके Bank A/c की तरह ही काम करता है और इस A/c द्वारा आप वे सारे काम कर सकते हैं, जो काम आप अपने Bank A/c द्वारा कर सकते हैं। यदि आपने अपना PayPal A/c केवल Secure Online Shopping के लिए Create किया है, तो आप तब तक Online Shopping नहीं कर सकते, जब तक कि आप अपने Bank A/c अथवा Credit Card / Debit Card को इस PayPal A/c से Link नहीं कर देते, लेकिन यदि आपने ये PayPal A/c केवल Online Job Work से आने वाले पैसों को प्राप्‍त करने के लिए बनाया है, तो फिलहाल आप इस PayPal A/c को इसी स्थिति में रहने दे सकते हैं। हालांकि आपके PayPal A/c में आने वाले पैसे को आप तब तक अपने Bank A/c में प्राप्‍त नहीं कर सकते, जब तक कि आप अपने Bank A/c को PayPal A/c से Link नहीं कर देते, लेकिन आप बिना अपने Bank A/c अथवा Credit Card / Debit Card को अपने PayPal A/c से Connect किए हुए भी, PayPal Company से अपने पैसे का Check प्राप्‍त कर सकते हैं। अपने PayPal A/c में पहुंचने के बाद सबसे पहले आपको अपना Email Address Confirm करना होता है, ताकि PayPal Company ये समझ सके, कि आप एक सही व्‍यक्ति हैं और आपके Email Inbox पर आपका ही अधिकार है। यानी आपने फर्जी Email ID से PayPal A/c Create नहीं किया है। Email Address Confirm करने के लिए आपको अपने PayPal A/c पर दिखाई देने वाले “Confirm email address” Hyperlink Click करना होता है। इस Hyperlink पर Click करते ही आपके सामने एक नया Web Page आता है, जो आपसे तीन काम करने के लिए कहता है। सबसे पहले आपको अपने उस Email Inbox में जाना होता है, जिस Email ID से आपने PayPal पर A/c Create किया है। आपके Mail Inbox में PayPal की ओर से एक Mail आया हुआ होता है, जिसमें “Click to activate your account” नाम का एक Hyperlink होता है। इस Hyperlink पर Click करते ही आपके सामने एक नया Page Display होता है, जिस पर आपको अपना PayPal Password Enter करना होता है। जैसे ही आप अपना Password Enter करके Confirm Button पर Click करते हैं, आपका PayPal A/c Confirm हो जाता है और Continue Button पर Click करके आप अपने PayPal A/c में पहुंच जाते हैं। अब जब कभी भी आप अपने PayPal A/c में Login करना चाहते हैं, आपको PayPal की Secure Website पर दिखाई देने वाले Username/Password के Text Boxes में अपने PayPal Email ID व Password को Specify करना होता है। आप जब पहली बार अपने PayPal A/c में Login होते हैं, तब आपके सामने एक नया Webpage आता है, जिस पर आपको दो सवालों के जवाब देने होते हैं और जिन्‍दगी भर इन जवाबों को ध्‍यान में रखना होता है। क्‍योंकि जब भी कभी आप अपने PayPal A/c का Password भूल जाते हैं, तब PayPal Website पर अपना Password प्राप्‍त करने के लिए आपको इन्‍हीं दो सवालों का जवाब देना होता है। आप इन दो सवालों का जवाब देने के बाद ही अपने PayPal A/c में पहुंचते हैं। इतना काम करने के बाद अब आप कह सकते हैं कि आपका PayPal A/c तैयार है। अगले Post में जानिए कि आप अपने Bank A/c को अपने PayPal A/c से कैसे Link करेंगे। ये Post आपको कैसा लगा और क्‍या ये जानकारी आपके लिए फायदेमंद रही, कृपया Comment जरूर करें। आपके अच्‍छे व बुरे Comment हमें और अच्‍छा काम करने के लिए प्रेरित करते हैं।


Be informed with latest update